Lung Cancer Symptoms, Treatment And Stages In Hindi (जानिए इसके लक्षण और सभी स्टेज के बारे में)

Lung Cancer Meaning Symptoms Treatment And Stages

Table of Content

Lung Cancer in Hindi (फेफड़ों का कैंसर हिंदी में)

लंग कैंसर या फेफड़ों का कैंसर एक ऐसा कैंसर है जोकि फेफड़ों से शुरू होता है | लंग कैंसर दुनिया भर में सबसे बड़ा कारन है, कैंसर से होने वाली मौत का| कैंसर में शरीर से कोशिकाएं अनियमित रूप से बढ़ने लगती है| लंग कैंसर आज भारत में पहला सबसे आम तोर पाया जाने वाला कैंसर है और USA में दूसरा | 

लंग कैंसर का सबसे ज्यादा खतरा उस व्यक्ति को है जो बहुत ज्यादा smoking यानि धूम्रपान करता हो| धूम्रपान फेफड़ों के कैंसर का सबसे बड़ा कारन बनता है| और भारत में इसके मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है| यह कैंसर धूम्रपान के आलावा और भी कारणों से हो सकता है, जैसे तम्बाकू चबाना, धुएं के संपर्क में रहना या बहुत ज्यादा pollution होना| आम तौर पर यह कैंसर ब्रोंकि (bronchi) या फेफड़ों के कुछ हिस्से जैसे ब्रोंकिओलिस (bronchioles) और अल्विओली (alveoli) में शुरू होता है | कैंसर शरीर के एक अंग से दूसरे अंग तक भी फैल सकता है | 

Causes of Lung Cancer (फेफड़ों के कैंसर के कारण)

डॉक्टर्स और एक्सपर्ट्स की माने तो धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन फेफड़ों के कैंसर का सबसे बड़ा कारण बनता है| धूम्रपान करने से फेफड़ों में मौजूद कोशिकाओं(cells) को बहुत ज्यादा नुकसान होता है| 

धूम्रपान करने से न ही सिर्फ धूम्रपान करने वाले को कैंसर हो सकता है बल्कि उसके आस पास जो लोग उस धुएं के संपर्क में आ रहे है उन्हें भी हो सकता है|  

कैंसर की कोशिकाएं(cell) भी शरीर की आम कोशिकाओ की तरह ही होती है, फरक सिर्फ इतना होता है की कैंसर की कोशिकाएं अपने आप बढ़ने लगती है और इतनी बढ़ जाती है की दूसरे अंगो के साथ हस्तक्षेप करने लगती है| कुछ लोगो में कोई नहीं बता सकता की किसीको लंग कैंसर क्यों हुआ है उसका कारण क्या है, लेकिन कुछ खतरे ऐसे ही जिनकी  से इसके होने चांस बढ़ जाते है| जैसे की :- 

  • सेकेंड हैंड तंबाकू के धुएं के संपर्क में आना। 
  • वायु प्रदूषण, रेडॉन, अभ्रक, यूरेनियम, डीजल निकास, सिलिका, कोयला उत्पादों और अन्य जैसे हानिकारक पदार्थों के संपर्क में आना। 
  • आपकी छाती पर पिछले रेडिएशन ट्रीटमेंट(उदाहरण के लिए, स्तन कैंसर या लिम्फोमा के लिए)। 
  • परिवार में किसी और को फेफड़े के कैंसर होना | 

Symptoms of Lung Cancer (फेफड़ों के कैंसर के लक्षण)

Symptoms of Lung Cancer (फेफड़ों के कैंसर के लक्षण)

 Lung Cancer Symptoms

आम तौर पर शुरुवाती दिनों में लंग कैंसर के कोई लक्षण नज़र नहीं आतें है| जो जरुरी लक्षण है फेफड़ों के कैंसर के वो अक्सर एडवांस(advance) स्टेज में ही पाएं जाते है और लक्षण भी अलग अलग लोगो में अलग अलग होते है, ऐसा जरुरी नहीं की सब में ही एक जैसे symptoms नज़र आएं| कुछ लोगो में ये लक्षण फेफड़ों में नज़र आता और कुछ लोगो में जब ये कैंसर किसी दूसरे अंग में फैल जाता है तो उसके लक्षण नज़र आने लगते है|  

फेफड़ों के कैंसर के लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

  • नई खांसी जो ठीक नहीं होती (A new cough that doesn’t go away)
  • खांसी में खून आना (Coughing up blood, even a small amount)
  • थोड़ा सा भी सांस लेने में कठिनाई  (Shortness of breath)
  • छाती में दर्द (Chest pain)
  • कर्कशता (Hoarseness)
  • बिना कोशिश किए वजन कम होना (Losing weight without trying)
  • हड्डी में दर्द (Bone pain)
  • सिरदर्द (Headache)

Treatment of Lung Cancer (फेफड़ों के कैंसर का इलाज)

Treatment of Lung Cancer (फेफड़ों के कैंसर का इलाज)

Lung Cancer Treatment

फेफड़ों के कैंसर के उपचार(treatment) आपके शरीर में कैंसर से छुटकारा पाने या इसके विकास को धीमा करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।  उपचार, कैंसर कोशिकाओं को हटा सकते हैं, उन्हें नष्ट करने में मदद कर सकते हैं या उन्हें बढ़ने से रोक सकते हैं या आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली(immune system) को उनसे लड़ने के लिए सिखा सकते हैं। कुछ ट्रीटमेंट्स का उपयोग लक्षणों को कम करने और दर्द को दूर करने के लिए भी किया जाता है। आपका ट्रीटमेंट आपके फेफड़े के कैंसर के प्रकार पर निर्भर करेगा, कैंसर किस जगह है, यह कितनी दूर तक फैला है और कई अन्य कारक हैं। 

फेफड़ों के कैंसर में कौन सी दवाएं/उपचार उपयोग किए जाते हैं?

  • सर्जरी (Surgery)

  • रेडियोफ्रीक्वेंसी अबलेशन (Radiofrequency ablation)

  • रेडिएशन थेरेपी (Radiation therapy)

  • कीमोथेरेपी (Chemotherapy)

  • टार्गेटेड ड्रग थेरेपी (Targeted drug therapy)

  • इम्मुनोथेरपी (Immunotherapy)

  • लक्षणों को कम करने के लिए उपचार (Treatments to ease symptoms)

Lung Cancer Stages (फेफड़ों के कैंसर से संक्रमण)

कैंसर का आमतौर पर शुरुवात के ट्यूमर के आकार के आधार पर स्टेज पता लगाया जाता है, यह आसपास के टिस्सुस(tissues) में कितनी दूर या गहराई तक पहुँच गया है, और क्या यह लिम्फ नोड्स(lymph nodes) या अन्य अंगों में फैलता है। स्टेजिंग के लिए अलग अलग प्रकार के कैंसर के अपने तरीके होते है| 

हर एक स्टेज इसपर निर्भर करता है की tumor का आकर कितना बड़ा है या फिर वो कितना फैल चूका है| उदाहरण के तोर stage 3 का कैंसर stage 2 के कैंसर से छोटा हो सकता है, लेकिन वह stage 3 में अन्य एडवांस फैक्टर्स की वजह से है| फेफड़ों के कैंसर के लिए सामान्य मंचन है:-

Lung Cancer Stage 0:

कैंसर फेफड़े या ब्रोनक्स(bronchus) की ऊपरी परत में होता है। यह फेफड़े के अन्य भागों में या फेफड़े के बाहर नहीं फैला है।

Lung Cancer Stage 1:

कैंसर फेफड़े के बाहर नहीं फैला है।

Lung Cancer Stage 2:

इस स्टेज पर अब कैंसर स्टेज 1 से बड़ा है, फेफड़े के अंदर लिम्फ नोड्स(lymph nodes) में फैल गया है, या फेफड़े के एक ही हिस्से में एक से अधिक ट्यूमर हैं।

Lung Cancer Stage 3:

तीसरे स्टेज पर कैंसर स्टेज 2 से बड़ा है, पास के लिम्फ नोड्स(lymph nodes)  या structures  में फैल गया है या एक ही फेफड़े के एक अलग लोब(lobe) में एक से अधिक ट्यूमर हैं।

Lung Cancer Stage 4:

इस स्टेज पर आते आते कैंसर दूसरे फेफड़े में फैल गया है, फेफड़े के आसपास का तरल पदार्थ में , हृदय या दूर के अंगों के आसपास का तरल पदार्थ में भी फैल गया है।

Types of Lung Cancer (लंग कैंसर के प्रकार)

Types of Lung Cancer (लंग कैंसर के प्रकार)

Lung Cancer Types (लंग कैंसर के प्रकार)

माइक्रोस्कोप के तहत फेफड़ों के कैंसर की कोशिकाओं के आधार पर डॉक्टर्स फेफड़ों के कैंसर को दो प्रमुख प्रकारों में बाँटते हैं। डॉक्टर्स मरीज के फेफड़ों के कैंसर का पता लगाकर की वह किस प्रकार का है उसी के आधार पर ट्रीटमेंट शुरू करते है।

फेफड़ों के कैंसर के दो सामान्य प्रकारों में शामिल हैं:- 

स्माल सैल लंग  कैंसर:

  छोटे सैल फेफड़ों का कैंसर लगभग विशेष रूप से भारी धूम्रपान करने वालों में होता है और नॉन-स्माल  सैल फेफड़ों के कैंसर से कम आम है।

नॉन-स्माल सैल लंग कैंसर:

नॉन-स्माल सैल फेफड़ों का कैंसर कई प्रकार के फेफड़ों के कैंसर के लिए दर्शाया जाता है। नॉन-स्माल सैल फेफड़ों के कैंसर में स्क्वैमस सैल कार्सिनोमा(squamous cell carcinoma), एडेनोकार्सिनोमा(adenocarcinoma) और लार्ज सैल कार्सिनोमा(large cell carcinoma) शामिल हैं।

 Safety Measures (सुरक्षा उपाय)

 Safety Measures Lung Cancer (सुरक्षा उपाय)

 Safety Measures Lung Cancer (सुरक्षा उपाय)

 

कई तरीके है जिससे आप अपने आपको सरक्षित रख सकते है लंग कैंसर से :- 

  • धूम्रपान न करें (Stop Smoking)
  • रेडॉन एक्सपोजर से बचें (Avoid radon exposure)
  • सेकेंडहैंड धूम्रपान से बचें (Avoid second hand smoke.)
  • फलों और सब्जियों से भरपूर आहार लें  (Eat a diet full of fruits and vegetables.)
  • रोज व्यायाम करें (Exercise regularly)

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न)

प्रशन 1:- लंग कैंसर का कैसे पता चलता है?

उत्तर 1:- लंग कैंसर का पता ज्यादा तर लोगो को अंतिम स्टेज में ही चल पता है| कई तरह से रोगियों को पता चल सकता है, इसके कुछ आम लक्षण हैं:- गंभीर खांसी होना, सांस लेने में तकलीफ होना, छाती(chest) में दर्द होना, बहुत जल्दी वजन काम होना या हड्डियों में दर्द होना| यह कुछ लक्षण है जिन्हे देख कर हमे पता चल सकता है|

प्रशन 2:- लंग कैंसर लास्ट स्टेज का व्यक्ति कितने दिन तक जीवित रह सकता है?

उत्तर 2:- रिपोर्ट्स की मने तो, पांच में से एक व्यक्ति पता चलने से एक महीने के एक महीने तक ही जीवित रह पता है| लेकिन 73% लंग कैंसर के मरीज एक साल के अंदर मर जाते है| 

प्रशन 3:- क्या लंग कैंसर जड़ से खत्म हो सकता है?

उत्तर 3:- शरीर में यह कैंसर फैलने पर, यह जानलेवा बन जाता है| लेकिन अगर सही समय पर पता चल जाये और इलाज शुरू हो जाये तो मरीज बच सकते है| लेकिन अगर सही समय और इलाज न हो पाया, तो यह कैंसर लाइलाज बन जाता है | 

प्रशन 4:- क्या फेफड़ों के कैंसर का इलाज संभव है?

उत्तर 4:- लंग कैंसर या फेफड़ों के कैंसर का इलाज संभव है या नहीं ये इस बात पर निर्भर करता है की वह कैंसर कोनसे प्रकार का है|  जैसे की नॉन स्माल सैल लंग कैंसर का इलाज स्माल सैल लंग कैंसर से अलग है। अगर फेफड़ों के कैंसर की डायग्नोसिस(diagnosis) जल्दी स्टेज पर हो जाए तो सर्जरी से इलाज हो सकता है।

प्रशन 5:- फेफड़ों के कैंसर के क्या लक्षण होते हैं?

उत्तर 5:- खांसी जो बहुत दिनों से बढ़ रही हो, खासी में खून आना, छाती में दर्द होना या सांस लेने में बहुत तकलीफ रहना| 

प्रशन 6:- फेफड़ों का कैंसर कितने प्रकार का होता है ?

उत्तर 6:- फेफड़ों का कैंसर मुख्य रूप से चार प्रकार का हो सकता है :- 

  • लंग नूडल्स (lung nodules)
  • नॉन स्माल सैल लंग कैंसर (non-small cell lung cancer)
  • स्माल सैल लंग कैंसर  (small cell lung cancer)
  • मेसोथेलिओमा (mesothelioma)
Share this post
Dr. Vikas Goswami, M.B.B.S. from MAMC, M.D. in Internal Medicine, ECMO, and D.N.B. in Medical Oncology, is a Senior Consultant and experienced Oncologist with 17 years of experience in the field of medicine. He is an excellent speaker and presented his knowledge of Oncology at national & international conferences and workshops. Book an Appointment View Details

Start typing and press Enter to search

Shopping Cart
Call for Appointment